Friday, 22 March 2019

Johny Johny Yes Papa Nursery rhymes and baby songs by Jugnu Kids

Johny Johny Yes Papa



Johny is eating sugar & monkey is eating Junk food, Is it not good for their health?
Watch Johny Johny.
& learn what's good for our little friends

Wednesday, 20 March 2019

Holi Safety Tips by Jugnu Kids

Holi Safety Tips by Jugnu Kids
Hey Friends! Are you excited to play Holi?
In the hapiness and celebration of Holi Don't forget to protect yourself from harmful colors and keep yourself safe.
Here are some Safety tips to keep in mind while celebrating Holi.









Wish you all a very Happy Holi 🌸


Wednesday, 13 March 2019

बच्चों की मुस्कान - Smile of Kids | Jugnu Kids

मासूमियत सी हँसी दिल को खुश कर जाती है
उनकी खिलखिलाहट हर गम को भुला जाती है
दर्द कितना भी हो इस जहाँ में,
बच्चों की मुस्कान ही हर ज़ख्म मिटा जाती है।


Thursday, 7 March 2019

Happy Women's Day by Jugnu Kids

Happy Women's Day to all the super womens

She is a Mother, Sister, Teacher, Daughter, Wife, Grandmother, Mentor, Friend who stand beside us all the
time, who has an eternal Strength of Humanity. She is a Women 

Wednesday, 6 March 2019

Chalak Lomdi aur Gadha | Clever Fox and Donkey | Hindi Stories for kids by Jugnu Kids

चालाक लोमड़ी और गधा

किसी जंगल में एक लोमड़ी रहती थी जो बहुत ही धूर्त और चालाक थी। जंगल के छोटे मोटे जानवरों को वह अपनी मीठी बातों में फंसा कर उन पर शिकार करने का प्रयत्न करती। कभी-कभी तो उसकी चालाकी समझकर कुछ जानवर भाग निकलते और कभी कभी कुछ बेचारे उसका शिकार बनते।


एक दिन गधा कहीं से घूमता फिरता उस जंगल में पहुंचा। लोमड़ी ने सोचा कि कहीं ऐसा न हो यह गधा जंगल के छोटे मोटे जानवरों को मेरी चालाकियां समझा दे, तो हम कहीं के भी नहीं रहेंगे। अतः उसने सोचा कि क्यों न गधा से भी दोस्ती का हाथ बढ़ा कर फिर उस का शिकार कर दिया जाय। वह बहुत ही विनम्र भाव में बोली, कि भाई तुम्हारा नाम क्या है, और कहाँ से और किस प्रयोजन से यहाँ आना हुआ।

गधे ने अपना परिचय बता दिया। लोमड़ी ने कहा कि बड़ा अच्छा हुआ तुम आ गए अब हम तुम एक मित्र की भांति रहेंगे। गधा बिचारा सीधा सादा था उसे छल प्रपंच की बातें आती नहीं थी वह क्या समझता कि लोमड़ी के मन में क्या पक रहा है।
एक दिन लोमड़ी कुछ उदास हो कर बैठी। गधे ने उसे चिन्तित देखा तो पूछा लोमड़ी बहन! तुम इतनी उदास क्यों हो। लोमड़ी ने और भी उदास मुद्रा बनाकर कहा क्या बताऊं भाई! मैंने एक पाप किया है उसी की याद करके मुझे पश्चाताप हो रहा है।
लोमड़ी ने आंखों में आंसू भरकर कहा – कुछ दिन पहले मैं और मेरा लोमड़ सुख से रहते थे, एक दिन हम दोनों में एक बात को लेकर बड़ी जोर से झगड़ा हो गया। लोमड़ क्रोध में घर से बाहर निकल गया कुछ देर तो मैं घर में रही। मैंने सोचा कि क्रोध शांत होने पर लोमड़ घर लौट आएगा किंतु वह तो नहीं लौटा लेकिन शेर की दहाड़ सुनाई पड़ने लगी।
मैं भाग कर गई कि कहीं शेर मेरे लोमड़ को मार न डाले। किंतु मेरे जाते जाते शेर मेरे लोमड़ का शिकार कर चुका था। मुझे भी घर जाने की इच्छा नहीं हुई तब से मैं यहीं पड़ी रहती हूं। इतना कहकर लोमड़ी रोने लगी। मैं यही सोचती हूं कि मैंने लड़ाई क्यों की। गधे ने उसकी बातों पर विश्वास कर लिया और बोला मत दुखी हो बहन ! गल्ती हो ही जाया करती है। तुमने जान बूझ कर तो कुछ किया नहीं |
लोमड़ी ने कहा – भाई तुमने भी कोई पाप किया है कभी तो मुझे बताओ।
गधे ने कहा – हां बहन ! एक बार मुझसे भी गल्ती हो गई थी। मैं भी एक धोबी का नौकर था। धोबी रोज कपड़ों की लादी मुझ पर लादता था। और घर से घाट और घाट से घर ले जाया करता था.| उसके एवज में मुझे घांस पानी मिलता था। एक दिन धोबी के लड़के ने मुझ पर लादी लाद दी और खुद भी बैठकर चला घात की ओर।
उस दिन मेरी इच्छा चलने की नहीं हो रही थी। मैं अड़ गया। लड़के ने पुचकारा किंतु मई अड़ा रहा वह गुस्से में उतर कर मुझे मारने चला। मैंने वह पैर फटकारा कि उसकी लादी भी गिर गई। और उसे भी चोट आ गई और मैं वहां से चल दिया मैं भी यही सोचता हूं कि मैंने वह गल्ती क्यों की। लोमड़ी ने गुस्से में भर के कहा नमकहराम जिसका खाता रहा उसी का काम करने में आनाकानी की तेरी शक्ल भी देखना पाप है। कह कर वह झपटने को हुई। पहले तो गधा यह न समझ पाया कि लोमड़ी क्यों एक दम बदल गई। वह रेंकता हुआ भागा लोमड़ी ने उसका पीछा किया।
गधे का रेंकना सुनकर जंगल के और जानवर आए। जब लोमड़ी और उसको भागते देखा तो यह कहते हुए भागे कि अरे ! आज लोमड़ी ने अपने लोमड़ की मनगढ़ंत कहानी सुना कर गधे को अपना शिकार बना लिया।
गधे का क्या हुआ यह तो याद नहीं है किंतु लोमड़ी पर से सभी जानवरों का विश्वास उठ गया। वह एक अकेली और निरीह सी घूमने लगी। कहानी समझने की है |


शिक्षा - झूठ बोलकर धोखा दिया जा सकता है किंतु यदि झूठ खुल गया तो उस पर से सब का विश्वास सदा के लिए उठ जाता है।


Jugnu kids have a great collection of bedtime stories, kids stories, hindi stories, hindi fairy tales and hindi khahani
Dhobi aur Gadha |The Donkey and the Dhobi | Hindi Stories | Stories for kids by Jugnu Kids - https://goo.gl/hCeTpm 
बन्दर और दो बिल्लियाँ | bandar aur billi ki kahani | Hindi Stories | Stories for kids by Jugnu Kids - https://goo.gl/7fmfpW
शेर और चूहा | sher or chuhe ki kahani in hindi - panchtantra ki kahaniya by jugnu kids - https://goo.gl/CJt2JF

Tuesday, 5 March 2019

Guess the Riddle

Guess the Riddle!🤔
I am white
I live where it is cold
I eat fish for my dinner
What am I?


Tuesday, 26 February 2019

Parental love Quote | Jugnu Kids

Parental love is the only love that is truly selfless, unconditional and forgiving.
– Dr. T.P.Chia


Saturday, 23 February 2019

Weekend with Family | Jugnu Kids


This weekend travel to a new place with your family & spent some happy moments.


Happy Weekend🏖️😍


Friday, 22 February 2019

Magical Pencil | जादुई पेंसिल | Hindi Stories | Moral Stories for kids by Jugnu Kids

जादुई पेंसिल

बहुत समय पहले किसी गाँव में सुन्दर नाम का एक आदमी रहता था। सुन्दर एक बहुत अच्छा चित्र्कार था। जब एक दिन खाना बनाने के लिए सुन्दर जंगल में लकड़ियाँ काटने जा रहा था। तभी उसकी नज़र एक चमकदार चीज़ पर पड़ी और बोला, “ये इतनी चमकदार चीज़ क्या है?” यह सोचकर सुन्दर उस चमकदार चीज़ के पास गया, और उसने उस चमकने वाली चीज़ को उठाकर बोला, “अरे ! यह तो बस एक पेंसिल हैं। पर ये इतनी चमक क्यों रही है?”
सुन्दर थोड़ी देर उस चमकने वाली पेंसिल को निहारता रहा। तभी उसे याद आया की उसे खाना बनाने के लिए लकड़ियाँ काटने जाना था। वह उस पेंसिल को अपने साथ लेकर वहाँ से चला गया। जब सुन्दर शाम को घर आया तो उसने देखा की अभी भी उस पेंसिल की चमक वैसे की वैसे ही थी। 
सुन्दर ने उस पेंसिल का इस्तेमाल किया, और उस पेंसिल से उसने चित्र्कारी करना शुरू कर दिया। सबसे पहले उसने एक सेब बनाया, और जैसे ही उस कागज़ पर सेब बन गया वह सेब उसकी आँखों के सामने असलियत में आ गया। जिसे देखकर सुन्दर एक दम हक्का-बक्का रह गया। उसे अपनी आँखों पर यकीन नहीं हो रहा था, फिर उसने दोबारा उस पेंसिल से एक कुल्हाड़ी बनाई। वह कुल्हाड़ी भी उसके सामने प्रकट हो गयी। सुन्दर को यकीन हो गया था, की यह एक जादुई पेंसिल है।  
उस पेंसिल को पाकर सुन्दर बहुत खुश हो गया था। अब उस पेंसिल के ज़रिये सुन्दर ने अपनी ज़रूरतों का सारा सामान बना लिया था । ऐसे ही करते-करते अब उसके पास हर एशो आराम की चीज़े थीं, जिसके बाद वह आराम का जीवन बिताने लगा। तभी एक दिन सुन्दर ने सोचा, “मैंने तो अपनी ज़रुरत की सारी चीज़े पा ली, लेकिन कुछ लोग ऐसे भी होंगे जो अपनी ज़रूरतें पूरी नहीं कर पाते होंगे। क्यों ना मैं उनकी मदद करूँ !” 
सुन्दर यह सोच ही रहा था की तभी उसे याद आया की उसका एक दोस्त, जो दूसरे गाँव में रहता हैं। जिसके पिताजी का स्वास्थ्य बहुत ख़राब रहता हैं। सुन्दर ने सोचा, “क्यों ना मैं अपने दोस्त की मदद कर दू।” सुन्दर अगली सुबह अपने दोस्त सोहन से मिलने चला गया। वो दोनों एक दूसरे से मिलकर बहुत खुश हुए।   
सुन्दर ने अपने दोस्त सोहन को भरोसा दिलाने के लिए उस जादुई पेंसिल से एक आम बनाया, और वह आम उन लोगो के सामने आ गया। यह देखकर सोहन हैरान रह गया था।  उसके बाद, सुन्दर सोहन की मदद करने लगा। सोहन की ज़रूरतों का सारा सामान उस पेंसिल के ज़रिये बना दिया। और उसकी मदद करके वहाँ से चला गया। 
धीरे-धीरे कर के सुन्दर हर उस इंसान की जरूरते पूरी करता था, जिसे मदद की जरूरत होती थी। ऐसा करते-करते वो पूरे गाँव में मशहूर हो गया। एक दिन गाँव के कुछ लोग सुन्दर की जादुई पेंसिल के बारे में आपस में बात कर रहे थे की तभी वहाँ खड़े हुए एक आदमी ने सब कुछ सुन लिया और उसने सोचा, “अरे वाह ! ये जादुई पेंसिल अगर मुझे मिल जाए तो मैं अमीर हो जाऊँगा।”
एक दिन किसी काम से सुन्दर कही जा रहा था। तभी उस आदमी ने सुन्दर का अपहरण कर लिया। वो सुन्दर को अपने घर ले गया। उस आदमी ने सुंदर से सोने का पहाड़ बनाने को कहा। सुन्दर ने एक सोने का पहाड़ बना दिया, लेकिन उसने पहाड़ के साथ-साथ एक बहुत लंबी नहर भी बनाई। पहाड़ देखकर वो आदमी बहुत खुश हो गया, और उसने सुन्दर से उसकी जादुई पेंसिल छीन ली। जैसे ही वो नाव की तरफ जा रहा था उससे जादुई पेंसिल गिर गई।  पर वो आदमी इतना खुश था की उसे कुछ पता नहीं चला लेकिन सुन्दर ने वो जादुई पेंसिल गिरते हुए देख ली। जैसे ही वो आदमी नहर के बीच में पहुंचा, सुन्दर ने जल्दी से पेंसिल उठाई और नहर में लंबी-लंबी लहरों को बना दिया। और वो आदमी लहरों में बह गया। 
तो इस तरह सुन्दर ने अपनी जादुई पेंसिल को गलत हाथों में जाने से बचा लिया। 
शिक्षा - अपनी बुद्धि का इस्तेमाल करके बड़ी से बड़ी मुसीबतों से निकला जा सकता है।

Jugnu kids have a great collection of bedtime stories, kids stories, hindi stories, hindi fairy tales and hindi khahani
Dhobi aur Gadha |The Donkey and the Dhobi | Hindi Stories | Stories for kids by Jugnu Kids - https://goo.gl/hCeTpm 
बन्दर और दो बिल्लियाँ | bandar aur billi ki kahani | Hindi Stories | Stories for kids by Jugnu Kids - https://goo.gl/7fmfpW 
शेर और चूहा | sher or chuhe ki kahani in hindi - panchtantra ki kahaniya by jugnu kids - https://goo.gl/CJt2JF

Wednesday, 20 February 2019

प्यारी नानी | Nani Poem in hindi by Jugnu kids


https://www.facebook.com/jugnukids/photos/a.1476302789349611/2152608798385670/?type=3&theater


नानी होती हैं कितनी प्यारी, रोज़ नई कहानियाँ सुनाती
अपने हाथों से खाना खिलाती, माँ की डाँट से हमें बचाती
जब हम अच्छा काम करें तब, थप-थपा कर पीठ देती शाबाशी
अब बड़े हुए तो क्या हुआ, हमें आज भी याद आती हैं नानी।

Monday, 18 February 2019

Baby & Puppy


No symphony orchestra has ever played music like a two-year-old child laughing with a puppy.
– Bern Williams



Sunday, 17 February 2019

Creative Drawing Ideas by Jugnu Kids


#LearnWithFun
Hey Kids! We know you love to draw. 😀✏️🎨
Let's try these steps & create cute animals in a creative way.
Fish

Snail


Rabbit



Cat
Sheep


Duck
                            Swan                                

 For more DIY & Creative ideas Visit to Jugnu Kids Facebook Page.






Thursday, 14 February 2019

Traffic Rules in hindi by Jugnu Kids

क्या कहते हैं Traffic Rules?
क्या आप सब जानते हैं ?
जानिये Traffic Rules के बारे में Lily se



Monday, 11 February 2019

Sunday, 10 February 2019

Monday, 4 February 2019

Chun Chun Karti Aayi Chidiya | Hindi Rhymes by Jugnu Kids

सुबह सवेरे आगंन को हमारे चूं चूं कर चहकाती चिड़िया।
सुनिए चिड़ियों पर आधारित जुगनू किड्स की प्यारी कवित




Thursday, 31 January 2019

Ringa Ringa Roses - Learn English with Songs for Children by Jugnu Kids

Sing Ring-a-ring o' roses & play the Circle game with your friends.


Lyrics-

Ring-a-ring o’ roses,
A pocket full of posies,
A-tishoo! A-tishoo!
We all fall down
Ring-a-ring o’ roses,
A pocket full of posies,
A-tishoo! A-tishoo!
We all fall down
Feel the lovely sunshine
Flowers all around
Hop a little hop right off the ground
Feel the lovely sunshine
Flowers all around
Jump a little jump right off the ground
Ring-a-ring o’ roses,
A pocket full of posies,
A-tishoo! A-tishoo!
We all fall down.
Ring-a-ring o’ roses,
A pocket full of posies,
A-tishoo! A-tishoo!
We all fall down.
Feel the lovely sunshine
Flowers all around
Hop a little hop right off the ground
Feel the lovely sunshine
Flowers all around
Jump a little jump right off the ground

Tuesday, 29 January 2019

Betiyan | Daugther Quotes in Hindi | Jugnu Kids


खिलती हुई कलीयां हैं बेटियाँ, माँ बाप का दर्द समझती हैं बेटियाँ
घर को रौशन करती हैं बेटियाँ
बेटे आज हैं, तो आने वाला कल हैं बेटियाँ।



Pyasa kauwa | Thirsty crow | Panchtantra Story by Jugnu Kids

देखिये आज की पंचतंत्र की कहानी में कौए की समझदारी ने किस प्रकार बुझाई उसकी प्यास।



Monday, 28 January 2019

Friday, 25 January 2019

Happy Republic Day from Jugnu Kids


Jugnu Kids टीम की तरफ से सभी देशवासियों को गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं |



अलग है भाषा, धर्म जात, प्रान्त, भेष और परिवेश
पर हम सब का एक है गौरव राष्ट्रध्वज तिरंगा श्रेष्ठ















 












Monday, 21 January 2019

भाई बहन का प्यार Quote | Jugnu Kids

भाई का प्यार किसी दुआ से कम नहीं होता,

वो चाहे दूर भी हो कोई गम नहीं होता,

अक्सर रिश्ते दूरियों से फीके पड़ जाते हैं

पर भाई बहन का प्यार कम नहीं होता।



Friday, 18 January 2019

Meri Gaiya aati hai | Hindi poem - Cow Song by Jugnu Kids

मिलिये Jugnu kids की प्यारी गय्या से जिसके दूध से बनते हैं हम स्वस्थ।

                         


Lyrics:
Meri gaiya aati hein,
mujhko doodh pilaati hein,
gore rang me sajhti hein,
bacche sab aa jate hein,
usko pyaar jatatein hein,
uska ek baccha hein,
Uchaal kood karta hein,
meri gayya aati hein.


Thursday, 17 January 2019

Wednesday, 16 January 2019

Best Friends Mug For Kids by Jugnu Kids & Natkhat Bobo


During childhood, friendship helps in making us understand and develop the habit of sharing and caring. Friends are important for proper growth and development of kids. Help Kids understand the value of Friendship with our Jugnu Kids mugs


Best Friends Mug
Never let your best friends get lonely. Gift this to your Best Friends mug to remind them of you always

                        
Shop at- http://bit.ly/BestFriendsMugJugnukids

Tuesday, 15 January 2019

How to create Clock for your kids room | Crafts Videos for Kids | Jugnu Kids

DIY Clock Craft by Jugnu KidsLet's get Crafty!

How to create Clock for your kids room

Watch this tutorial to Create Clock for kids room by following these step


Subscribe to Jugnu Kids for more crafty videos.
Follow us on
Facebook - https://www.facebook.com/jugnukids
Instagram - https://www.instagram.com/jugnukids
Pinterest- https://in.pinterest.com/jugnukidsvideos/
Twitter- https://twitter.com/jugnukids